GCF ने भारत के तटीय क्षेत्रों में जलवायु परिवर्तन का सामना करने के लिए 43 मिलियन डॉलर की राशि को मंज़ूरी दी

ग्रीन क्लाइमेट फण्ड (GCF) ने भारत के तटीय क्षेत्रों में निवास करने वाले समुदायों द्वारा जलवायु परिवर्तन का सामना करने के लिए 43.4 मिलियन डॉलर की राशि को मंज़ूरी दे दी है।  इस राशि का उपयोग विभिन्न देशों में भू-तापीय Read More …

संकट में पेरिस समझौता

सन्दर्भ एक दशक से जलवायु परिवर्तन का संकट बढ़ता ही जा रहा है। इसी कालखंड में इस समस्या पर पर्यावरण कार्यकर्ताओं और विशेषज्ञों ने सबसे ज्यादा चिंता जताई। दुनियाभर में जागरूकता अभियान चले। फिर भी ज्यादा कुछ हो नहीं पाया, Read More …

आर्कटिक में MOSAIC अभियान

MOSAIC (Multidisciplinary drifting Observatory for the Study of Arctic Climate) मिशन एक वर्ष तक चलेगा। इस अभियान में आर्कटिक पर जलवायु परिवर्तन के परिणाम का अध्ययन किया जायेगा। इस अभियान के 300 वैज्ञानिकों में केरल के एक वैज्ञानिक भी शामिल Read More …

धरती को बचाना होगा

सन्दर्भ दुनिया के 163 देशों के 40 लाख लोग जलवायु संकट को दूर करने के लिए सड़कों पर उतरे। इसी महीने संयुक्त राष्ट्र युवा जलवायु शिखर सम्मेलन से पहले इन प्रदर्शनकारियों ने जलवायु संकट से निपटने के लिए कदम उठाने Read More …

न्यूयॉर्क में किया गया संयुक्त राष्ट्र जलवायु शिखर सम्मेलन 2019 का आयोजन

संयुक्त राष्ट्र जलवायु शिखर सम्मेलन 2019 का आयोजन न्यूयॉर्क में किया गया।  इस शिखर सम्मेलन का उद्देश्य पेरिस समझौते का शीघ्र क्रियान्वयन सुनिश्चित करना है। इस शिखर सम्मेलन में 9 स्वतंत्र ट्रैक्स पर फोकस किया गया है। ‘इंडस्ट्री ट्रांजीशन’ ट्रैक Read More …

CROSPC ने ‘मिड मानसून-2019 लाइटनिंग’ नामक रिपोर्ट जारी की

हाल ही में Climate Resilient Observing Systems Promotion Council (CROSPC) ने ‘मिड मानसून-2019 लाइटनिंग’ नामक रिपोर्ट जारी की है। Climate Resilient Observing Systems Promotion Council (CROSPC) भारतीय मौसम विज्ञान विभाग की एक अनुसन्धान संस्था है। इस रिपोर्ट में आसमानी बिजली Read More …