सेबी अधिनियम में संशोधन किया गया

वित्त विधेयक 2019 के अनुसार सेबी अधिनियम में एक नया सेक्शन “15HAA” जोड़ा गया है, इस सेक्शन के अंतर्गत इलेक्ट्रॉनिक डेटाबेस में छेड़छाड़ करने वाली इकाइयों के विरुद्ध कारवाई की जायेगी। अब नियमों का पालन न करने पर सेबी ब्रोकर पर एक करोड़ रुपये तक का जुर्माना लगा सकता है।

भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (SEBI)

सेबी 1988 में स्थापित भारत में प्रतिभूति बाजार के लिए सांविधिक नियामक है। इसे सेबी अधिनियम, 1992 के माध्यम से सांविधिक शक्तियां दी गई थीं। इसका मुख्य कार्य प्रतिभूतियों में निवेशकों के हितों की रक्षा करना, प्रतिभूति बाजार के विकास को बढ़ावा देना और प्रतिभूति बाजार को विनियमित करना है। इसका मुख्यालय मुंबई, महाराष्ट्र में स्थित है।