विश्व शांति सूचकांक 2019 जारी किया गया

हाल ही में विश्व शांति सूचकांक जारी किया गया, इस सूचकांक में 163 देशों की सूची में भारत 141वें स्थान पर है। भारत पिछले वर्ष के मुकाबले 5 स्थान नीचे फिसला है।

मुख्य बिंदु

इस सूचकांक में पहले स्थान पर आइसलैंड है, गौरतलब है कि आइसलैंड 2008 से ही इस सूचकांक में पहले स्थान पर रहा है। सबसे शीर्ष देशों की सूची में न्यूजीलैंड, ऑस्ट्रिया, पुर्तगाल और डेनमार्क जैसे देश शामिल हैं।

दक्षिण एशिया के संदर्भ में भूटान का प्रदर्शन सबसे अच्छा है, इस सूचकांक में भूटान ने 15वां स्थान प्राप्त किया गया। इस सूचकांक में श्रीलंका 72वें, नेपाल 76वें, बांग्लादेश 101वें तथा पाकिस्तान 153वें स्थान पर है। प्रत्येक सूचक में दक्षिण एशिया का स्कोर वैश्विक औसत के मुकाबले काफी ख़राब है।

भारत फिलीपींस, जापान, बांग्लादेश, म्यांमार, चीन, इंडोनेशिया, वियतनाम और पाकिस्तान समेत उन देशों की श्रेणी में शामिल हैं जहाँ पर विभिन्न जलवायु खतरे मौजूद हैं। भारत, अमेरिका, चीन, सऊदी अरब और रूस सबसे अधिक सैन्य व्यय वाले देश हैं।

इस सूचकांक में सबसे अंतिम पायदान पर अफ़ग़ानिस्तान है। इस सूचकांक में सबसे नीचे के देश सीरिया, दक्षिण सूडान, यमन और इराक हैं।

इस रिपोर्ट में विश्व की 99.7% जनसँख्या को कवर किया गया है, इस सूचकांक में 23 सूचकांकों के आधार पर देशों का मूल्यांकन किया गया गया।