विश्व प्रतिस्पर्धा सूचकांक 2019

हाल ही में विश्व आर्थिक फोरम द्वारा विश्व सूचकांक 2019 जारी किया गया। इस सूचकांक में 103 सूचकों के आधार पर141 देशों का मूल्यांकन किया गया है। इस वर्ष भारत की रैंकिंग में 10 स्थानों की गिरावट आई है।

इस वर्ष विश्व प्रतिस्पर्धा सूचकांक में अमेरिका को पछाड़ते हुए सिंगापुर पहले स्थान पर पहुँच गया है, इस सूचकांक में अमेरिका दूसरे स्थान पर है। इस सूचकांक में हांगकांग तीसरे, नीदरलैंड्स चौथे तथा स्विट्ज़रलैंड पांचवें स्थान पर है। चीन को इस सूचकांक में 28वां स्थान प्राप्त हुआ है।

भारत के सन्दर्भ में रिपोर्ट के मुख्य बिंदु

  • समष्टिगत आर्थिक स्थिरता तथा बाज़ार के आकार के मामले में भारत की रैंकिंग उच्च है।
  • कॉर्पोरेट गवर्नेंस के मामले में भारत को 15वां स्थान प्राप्त हुआ है।
  • बाज़ार के मामले में भारत तीसरे स्थान पर है।
  • नवोन्मेष के मामले में भारत विकसित अर्थव्यवस्थाओं के समकक्ष है।
  • जीवन प्रत्याशा के मामले में भारत 109वें स्थान पर है।
  • इस रिपोर्ट के मुताबिक भारत को कौशल निर्माण, बाज़ार कुशलता, व्यापारिक स्वतंत्रता तथा श्रमिकों की सुरक्षा के क्षेत्र में कार्य करने की आवश्यकता है।
  • देश में महिला कामगारों की संख्या काफी कम है, इस मामले में भारत 128वें स्थान पर है।
  • कौशल के मामले में भारत को 107वां स्थान प्राप्त हुआ है।