बांग्लादेशी प्रधानमंत्री शेख हसीना प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात करेंगी

बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना हैदराबाद हाउस में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मुलाकात करेंगी। बैठक के दौरान दोनों नेता तीन परियोजाओं का उद्घाटन करेंगे तथा सात समझौतों पर हस्ताक्षर करेंगे। यह समझौते परिवहन, क्षमता निर्माण, कनेक्टिविटी तथा कृषि से सम्बंधित हैं। इस बैठक में तीस्ता जल वितरण तथा रोहिंग्या के मुद्दे पर चर्चा की जा सकती है।

भारत-बांग्लादेश व्यापार

पिछले एक दशक में भारत और बांग्लादेश के बीच में व्यापार में काफी वृद्धि हुई है। वर्ष 2016-17 में भारत ने बांग्लादेश को 4489 मिलियन डॉलर की वस्तुओं का निर्यात किया, जबकि बांग्लादेश ने भारत को 672.4 मिलियन डॉलर का निर्यात किया।

2011 के बाद भारत SAFTA (दक्षिण एशिया मुक्त व्यापार समझौता) के अंतर्गत बांग्लादेश को ड्यूटी फ्री (अल्कोहल तथा तम्बाकू को छोड़कर) पहुँच उपलब्ध करवा रहा है।

साझा नदियाँ

भारत और बांग्लादेश में कुल 54 ऐसी नदियाँ हैं जो दोनों देशों में बहती हैं। 1972 में इन नदियों से उत्तम लाभ प्राप्त करने के लिए एक संयुक्त नदी आयोग की स्थापना की गयी थी।

तीस्ता नदी विवाद

तीस्ता नदी पश्चिम बंगाल और सिक्किम से बहते हुए बंगाल की खाड़ी में प्रवेश करती है। 1983 में भारत और बांग्लादेश ने एक समझौते पर हस्ताक्षर किये थे, यह समझौता 1985 तक वैध था। इस समझौते के तहत भारत तीस्ता नदी के 39% तथा बांग्लादेश 36% जल का उपयोग करेगा।

1998 में बांग्लादेश ने तीस्ता बराज सिंचाई परियोजना शुरू की थी। वर्ष 2011 में भारत सरकार ने एक समझौता किया था, समझौते के अनुसार अक्टूबर से अप्रैल की अवधि में भारत तीस्ता के 42.5% तथा बांग्लादेश 37.5% पानी का उपयोग करेगा। परन्तु सिक्किम तथा बांग्लादेश ने इस समझौते पर आपत्ति प्रकट की थी।