पूर्वी एशिया में बढ़ेगी गरीबी, चीन का आर्थिक विकास भी हो सकता है धीमा: विश्व बैंक

विश्व बैंक ने कोरोना महामारी के बीच चीन समेत पूर्वी एशिया के आर्थिक हालात का जायजा लिया है। कोरोना वायरस से पड़ने वाले आर्थिक प्रभाव को लेकर विश्‍व बैंक की यह रिपोर्ट चौंकाने वाली है। विश्व बैंक ने अनुमान जाहिर किया है कि वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के कारण इस साल चीन तथा अन्य पूर्वी एशिया प्रशांत देशों में अर्थव्यवस्था की रफ्तार बहुत धीमी रहने वाली है जिससे लाखों लोग गरीबी की ओर चले जाएंगे

विश्व बैंक ने 30 मार्च 2020 को जारी एक रिपोर्ट में यह आंशका व्यक्त की है। रिपोर्ट में कहा गया है कि क्षेत्र में इस वर्ष विकास की रफ्तार 2.1 प्रतिशत रह सकती है जो 2019 में 5.8 प्रतिशत थी। रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि कोरोना महामारी से चीन के आर्थिक विकास पर ग्रहण लग सकता है।

रिपोर्ट से संबंधित मुख्य तथ्य

विश्व बैंक ने कहा कि यह विश्‍वव्‍यापी संकट है, लेकिन इससे चीन समेत पूर्वी एशिया मुल्‍कों में गरीबी में तेजी से इजाफा होगा।

रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि पूर्वी एशिया में 1.1 करोड़ लोग गरीब हो जाएंगे।

इस रिपोर्ट में में कहा गया है कि चीन की विकास दर भी पिछले साल की 6.1 प्रतिशत से घटकर इस साल 2.3 प्रतिशत रह जाएगी।

विश्व बैंक का अनुमान है कि 1.1 करोड़ से अधिक संख्या में लोग गरीबी के दायरे में आ जाएंगे। यह अनुमान पहले के उस अनुमान के विपरित है जिसमें कहा गया था कि इस वर्ष विकास दर पर्याप्त रहेगी और 3.5 करोड़ लोग गरीबी रेखा से ऊपर उठ जाएंगे।

महामारी घोषित

विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा कोविड-19 (कोरोना वायरस) को महामारी घोषित किया जा चुका है। रिपोर्ट्स के अनुसार दुनियाभर में अब तक करीब 37000 लोगों की इससे मौत हो चुकी है और कम से कम 775000 लोग संक्रमित है।

क्या होती है वैश्विक महामारी

रिपोर्ट के मुताबिक, वैश्विक महामारी ऐसी संक्रामक बीमारी के लिए उपयोग में लाया जाता है, जिसके खतरे का एक ही समय में विश्वभर के लोग सामना कर रहे होते हैं। यह तब फैलती है जब कोई नया वायरस आसानी से लोगों को संक्रमित कर ले और एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में इंफेक्शन फैलने लगे।

विश्व बैंक के बारे में

विश्व बैंक विशिष्ट संस्था है। इस बैंक का मुख्य उद्देश्य सदस्य राष्ट्रों को पुनर्निमाण और विकास के कार्यों में आर्थिक सहायता देना है। विश्व बैंक समूह पांच अन्तर राष्ट्रीय संगठनों का एक ऐसा समूह है जो सदश्य देशों को वित्त और वित्तीय सलाह देता है। इसका मुख्यालय वॉशिंगटन, डी॰ सी॰ में है। इस बैंक की स्थापना साल 1945 में हुई थी। विश्व बैंक नीति सुधार कार्यक्रमों और परियोजनाओं के लिये ऋण देता है।