थावरचंद गहलोत को राज्यसभा का नेता चुना गया

केन्द्रीय सामाजिक न्याय व सशक्तिकरण मंत्री थावरचंद गहलोत को राज्यसभा का नेता चुना गया है। राज्यसभा के नेता का चयन केंद्र में सत्ताधारी दल द्वारा किया जाता है। 2014-19 में राज्यसभा के नेता अरुण जेटली थे।

थावरचंद गहलोत

71 वर्षीय थावरचंद गहलोत मध्य प्रदेश से हैं। वे भारतीय जनता पार्टी के प्रमुख दलित नेता हैं। सांसद होने के अलावा वे भारतीय जनता पार्टी के सदस्य तथा महासचिव भी हैं। इससे पहले वे विधानसभा, राज्यसभा तथा लोकसभा के सदस्य रह चुके हैं। वे 2012 में राज्यसभा के सदस्य बने थे, बाद में 2018 में उन्हें पुनः मध्य प्रदेश से चुना गया था। उनका कार्यकाल 2024 में समाप्त होगा। गौरतलब है कि राज्यसभा के सदस्य का कार्यकाल  वर्ष का होता है।

राज्यसभा का नेता

राज्यसभा का नेता वह व्यक्ति होता है जिसके पास कैबिनेट मंत्री तथा मनोनीत मंत्री का दर्जा प्राप्त हो। राज्यसभा का नेता राज्यसभा के पदेन अध्यक्ष (उपराष्ट्रपति) के सामने प्रथम कतार में बैठता है। गोपालास्वामी अय्यंगर राज्यसभा के पहले नेता थे।