केन्द्रीय मानव संसाधन मंत्रालय अब स्कूलों में शुरू करेगा आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस पर पाठ्यक्रम

केन्द्रीय मानव संसाधन मंत्रालय ने स्कूली स्तर पर आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की पढ़ाई शुरू करने के लिए मोड्यूल तैयार किया गया है। इसकी घोषणा केन्द्रीय मानव संसाधन मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक द्वारा केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) के ‘टीचर्स अवार्ड्स 2018-19’ में संबोधन के दौरान की।

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI)

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (कृत्रिम बुद्धि) कंप्यूटर साइंस की वह शाखा है जिसके द्वारा मशीनों में इंसानों की तरह सोचने समझने की क्षमता विकसित की जाती है। AI मशीने वातावरण के अनुसार खुद को ढालने में सक्षम होती हैं।

केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई)

केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) देश में सार्वजनिक तथा निजी स्कूलों के लिए एक राष्ट्रीय स्तर का शिक्षा बोर्ड है। वर्तमान में सीबीएसई के अंतर्गत 19,316 स्कूल भारत में तथा 211 स्कूल 28 देशों में जुड़े हुए हैं। सीबीएसई की गठन 3 नवम्बर, 1962 को किया गया था। इसका मुख्यालय नई दिल्ली में स्थित है। सीबीएसई केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय के अधीन कार्य करता है।

सीबीएसई से मान्यता प्राप्त इन देशों में मौजूद हैं : अफ़ग़ानिस्तान, बांग्लादेश, इथियोपिया, घाना, इंडोनेशिया, ईरान, इराक, जापान, केन्या, कुवैत, लाइबेरिया, लीबिया, मलेशिया, म्यांमार, नेपाल, नाइजीरिया, ओमान, क़तर, बेनिन, रूस, सऊदी अरब, सिंगापुर, सोमानिया, तंज़ानिया, थाईलैंड, यूगांडा, संयुक्त अरब अमीरात तथा यमन।